हम फकीरों को पता भाई » Hum Faqiron Ko Pata Bhai Lyrics in Hindi » Karz

Hum Faqiron Ko Pata Bhai Lyrics in Hindi

Hum Faqiron Ko Pata Bhai Lyrics in Hindi कमाल हैं कमाल हैं कमाल हैं कमाल हैं कमाल हैं कमाल हैं कमाल हैं कमाल हैं हम फकीरों को पता भाई हम फकीरों को पता भाई सबके दिल का हाल हैं सबके दिल का हाल हैं कमाल हैं कमाल हैं कमाल हैं कमाल हैं कमाल हैं कमाल … Read more

तू कितने बरस का » Tu Kitne Baras Ka Lyrics in Hindi » Karz

Tu Kitne Baras Ka Lyrics in Hindi

Tu Kitne Baras Ka Lyrics in Hindi तू कितने बरस का तू कितने बरस की मैं सोलह बरस की तो मैं सत्रह बरस का सोलह सत्र सत्र सोलह मिल न जायें नैना एक दो बरस ज़रा दूर रहना एक दो बरस ज़रा दूर रहना कुछ हो गया तो फिर न कहना मैं सोलह बरस की … Read more

पैसा यह पैसा » Paisa Yeh Paisa Lyrics in Hindi » Karz

Paisa Yeh Paisa Lyrics in Hindi

Paisa Yeh Paisa Lyrics in Hindi पैसा यह पैसा पैसा है कैसा नहीं कोई ऐसा जैसा यह पैसा के हो मुसीबत ना हो मुसीबत हो मुसीबत ना हो मुसीबत सात आठ नौ दस पैसा यह पैसा पैसा है कैसा नहीं कोई ऐसा जैसा यह पैसा के हो मुसीबत ना हो मुसीबत हो मुसीबत ना हो … Read more

एक हसीना थी एक दीवाना था » Ek Hasina Thi Lyrics in Hindi » Karz

Ek Hasina Thi Lyrics in Hindi

Ek Hasina Thi Lyrics in Hindi रोमियो जूलियट लैला-मजनू, शिरीन-फ़रहाद इनका सच्चा इश्क़ ज़माने को अब तक है याद याद, याद मुझे आया है एक ऐसे दिलबर का नाम जिसने धोका देकर नाम-ए-इश्क़ किया बदनाम यही है साहेबान कहानी प्यार की किसी ने जान ली, किसी ने जान दी एक हसीना थी, एक दीवाना था … Read more

ॐ शान्ति ॐ » Om Shanti Om Lyrics in Hindi » Karz

Om Shanti Om Lyrics in Hindi

Om Shanti Om Lyrics in Hindi हे, तुमने कभी किसी से प्यार किया? किया! कभी किसी को दिल दिया? दिया! मैंने भी दिया! मेरी उमर के नौजवानों दिल न लगाना ओ दीवानों मैंने प्यार करके चैन खोया, नींद खोयी अरे झूठ तो कहते नहीं हैं कहते नहीं हैं लोग कोई ऐ, प्यार से बढ़कर नहीं है बढ़कर … Read more

दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर » Dard E Dil Dard E Jigar Lyrics in Hindi » Karz

Dard E Dil Dard E Jigar Lyrics in Hindi

Dard E Dil Dard E Jigar Lyrics in Hindi दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर, दिल में जगाया आपने पहले तो मैं शायर था, आशिक बनाया आपने आपकी मदहोश नज़रें कर रही हैं शायरी ये ग़ज़ल मेरी नहीं, ये ग़ज़ल है आपकी मैंने तो बस वो लिखा, जो कुछ लिखाया आपने दर्द-ए-दिल, दर्द-ए-जिगर… कब कहाँ सब खो गयी, जितनी … Read more