है प्रीत जहाँ की रीत » Hai Preet Jahan Ki Reet Lyrics in Hindi » Purab Aur Pachhim

Hai Preet Jahan Ki Reet Lyrics in Hindi

Hai Preet Jahan Ki Reet Lyrics in Hindi जब जीरो दिया मेरे भारत नेदुनिया को तब गिनती आयीतारों की भाषा भारत नेदुनिया को पहले सिखलायीदेता ना दशमल भारत तो यूं चाँद पे जाना मुश्किल थाधरती और चाँद दूरी काअंदाजा लगाना मुश्किल थासभ्यता जहाँ पहले आयीपहले जन्मी हैं जहापे कलाअपना भारत वो भारत हैजिस के पीछे … Read more