कोई जब तुम्हारा » Koi Jab Tumhara Hriday Tod De Lyrics in Hindi » Purab Aur Pachhim

Koi Jab Tumhara Hriday Tod De Lyrics in Hindi

Koi Jab Tumhara Hriday Tod De Lyrics in Hindi कोई जब तुम्हारा ह्रदय तोड़ देतड़पता हुआ जब कोई छोड़ देतब तुम मेरे पास आना प्रियेमेरा दर खुला है, खुला ही रहेगातुम्हारे लिए अभी तुम को मेरी ज़रूरत नहींबहुत चाहने वाले मिल जायेंगेअभी रूप का एक सागर हो तुमकँवल जितने चाहोगी खिल जायेंगेदर्पण तुम्हें जब डराने … Read more